Doctor Bhimrao Ramji Ambedkar Free PDF Book

Hello Friends ! आज हम आप सभी के लिए Doctor Bhimrao Ramji Ambedkar Free PDF Book जो की एक बहुत महत्वपूर्ण eBook हैं खास आप के लिए लेकर आये हैं।

डॉ. भीमराव रामजी अंबेडकर का जीवन परिचय (Biography of Dr. Bhimrao Ramji Ambedkar) –

डॉ. भीमराव रामजी अंबेडकर एक महान और सभी समय के एक प्रेरणादायक नेता थे जिन्होंने महिला सशक्तिकरण पर एक सकारात्मक दृष्टिकोण रखा। हम जानते हैं कि महिला सशक्तीकरण वास्तव में हमारे भारतीय समाज और यहां तक ​​कि अर्थव्यवस्था के लिए एक अच्छी बात है। हम यह भी जानते हैं कि हमारे समाज में महिलाओं को उनके विभिन्न कारणों की वजह से ज्यादातर भेदभाव किया जाता है, लेकिन अभी तक लोगों के आधुनिकीकरण और बढ़ते दिमाग सेट के कारण अब एक दिन महिलाओं को भी समाज के कुछ पहलुओं में भाग लेने की अनुमति है।

Doctor Bhimrao Ramji Ambedkar – हमेशा नारी शक्ति का समर्थन किया और यहां तक ​​कि महिलाओं को भी इस आधुनिक समाज और सभी का हिस्सा बनाया। इस आधुनिक समाज के लिए महिला सशक्तिकरण की वास्तव में आवश्यकता है क्योंकि कई कारण हैं जैसे कि महिलाएं देश की आर्थिक स्थिति और यहां तक ​​कि सामाजिक स्थिति को बढ़ाने में मदद कर सकती हैं।

आधुनिक भारत में विचारकों की आकाशगंगा के बीच, डॉ. भीमराव रामजी अंबेडकर (1891 – 1956) कई कारणों से दूसरों से काफी अलग हैं। सबसे पहले, बहुत ही गहनता से, उनका व्यक्तित्व एक अछूत के अद्वितीय ऋषि को याद करता है जो कि बड़े पैमाने पर सामाजिक विकलांगों को कठोर साहस से लड़ने में सक्षम बनाता है और कभी नहीं कहता – एक प्रमुख संवैधानिक, प्रतिष्ठित संसदीय, विद्वान और न्यायविद और सबसे ऊपर रहने के लिए जीवन के लिए मर जाते हैं।

एक समय में उदास वर्गों के नेता, जब संभवतः, एक अछूत के लिए एक उचित रूप से सामान्य सम्मानजनक जीवन जीना बेहद मुश्किल दिखाई देता था, यदि असंभव नहीं है, तो ऐसे लोगों के प्रति समाज के ऊपरी क्षेत्रों के शत्रुतापूर्ण और अपमानजनक व्यवहार को देखते हुए। इसके परिणामस्वरूप, जैसा कि देश के विभिन्न हिस्सों, विशेष रूप से उत्तरी भारत में हो रहा है, उन्हें इस बात का सबसे प्रेरक उदाहरण माना जाता है कि एक आदमी अपनी अदम्य पदवी और महान आत्म-अस्वीकार द्वारा प्राप्त कर सकता है, यहां तक ​​कि सबसे निराशाजनक और निराश्रित परिस्थितियों में भी।

पश्चिमी भारत के दलित महार परिवार में जन्मे, वे अपने उच्च जाति के स्कूली बच्चों द्वारा अपमानित लड़के के रूप में थे। उनके पिता भारतीय सेना में एक अधिकारी थे। बड़ौदा (अब वडोदरा) के गायकवाड़ (शासक) द्वारा छात्रवृत्ति प्राप्त करने के बाद, उन्होंने संयुक्त राज्य अमेरिका, ब्रिटेन और जर्मनी के विश्वविद्यालयों में अध्ययन किया।

उन्होंने गायकवाड़ के अनुरोध पर बड़ौदा लोक सेवा में प्रवेश किया, लेकिन, अपने उच्च-जाति के सहयोगियों द्वारा फिर से बीमार होने पर, उन्होंने कानूनी अभ्यास और शिक्षण की ओर रुख किया। उन्होंने जल्द ही दलितों के बीच अपना नेतृत्व स्थापित किया, अपनी ओर से कई पत्रिकाओं की स्थापना की और सरकार के विधान परिषदों में उनके लिए विशेष प्रतिनिधित्व प्राप्त करने में सफल रहे। दलितों के लिए बोलने के महात्मा गांधी के दावे (या गांधी के रूप में गांधी ने उन्हें बुलाया) के साथ, उन्होंने लिखा कि व्हाट कांग्रेस एंड गांधी हैव डन टू द अनटचेबल्स (1945)।

1947 में अम्बेडकर भारत सरकार के कानून मंत्री बने। उन्होंने भारतीय संविधान के निर्माण में एक प्रमुख हिस्सा लिया, अछूतों के खिलाफ भेदभाव को रेखांकित किया, और कुशलता से इसे विधानसभा के माध्यम से चलाने में मदद की। सरकार में उनके प्रभाव की कमी से निराश होकर उन्होंने 1951 में इस्तीफा दे दिया।

अक्टूबर 1956 में, हिंदू सिद्धांत में छुआछूत के अपराध के कारण निराशा में, उन्होंने हिंदू धर्म का त्याग कर दिया और नागपुर में एक समारोह में लगभग 200,000 साथी दलितों के साथ मिलकर बौद्ध बन गए। अंबेडकर की पुस्तक द बुद्ध एंड हिज़ धम्मा मरणोपरांत 1957 में प्रदर्शित हुई और इसे द बुद्धा एंड हिज़ धम्मा: अ क्रिटिकल एडिशन 2011 में पुनः प्रकाशित किया गया, जिसे आकांक्षा सिंह राठौर और अजय वर्मा ने संपादित किया

Dr. B.R Ambedkar-Short Paragraph

1) डॉ. बी. आर. अंबेडकर का जन्म 14 अप्रैल 1981 को मध्य प्रांत महू में हुआ था। (मध्य प्रदेश)

2) डॉ. बी. आर.अम्बेडकर को उनके समर्थकों ने “बाबासाहेब” भी कहा।

3) अछूतों की समानता के लिए संघर्ष किया।

4) 1912 में बॉम्बे विश्वविद्यालय से अर्थशास्त्र और राजनीति विज्ञान में स्नातक।

5) लंदन से 1927 में अर्थशास्त्र में पीएचडी।

6) वह 1918 में राजनीतिक अर्थव्यवस्था के प्रोफेसर के रूप में मुंबई के सिडेनहम कॉलेज ऑफ कॉमर्स एंड इकोनॉमिक्स में शामिल हुए।

7) 25 दिसंबर 1927 को मुंबई में मनुस्मृति को जलाया गया।

8) वह पूना संधि के दौरान सहायक था।

9) वह संविधान मसौदा समिति के अध्यक्ष थे।

10) वह स्वतंत्र भारत के पहले कानून मंत्री थे।

11) उन्हें संवैधानिक प्रारूप समिति का अध्यक्ष बनाया गया और उन्हें भारतीय संविधान का मुख्य वास्तुकार माना गया।

12) उन्हें 1990 में प्रतिष्ठित भारत रत्न पुरस्कार से सम्मानित किया गया था।

13) 06 दिसंबर 1956 को दिल्ली में उनके घर पर उनका निधन हो गया।

About Doctor Bhimrao Ramji Ambedkar (Important Question Answer Related to Dr. Bhimrao Ambedkar)

प्रश्न 1- डॉ अम्बेडकर का जन्म कब हुआ था?

उत्तर- 14 अप्रैल 1891
—————————————–

प्रश्न 2- डॉ अम्बेडकर का जन्म कहां हुआ था ?

उत्तर- मध्य प्रदेश इंदौर के महू छावनी में हुआ था।
—————————————–
प्रश्न 3- डॉ अम्बेडकर के पिता का नाम क्या था?

उत्तर- रामजी मोलाजी सकपाल था।
—————————————–
प्रश्न 4- डॉ अम्बेडकर की माता का नाम क्या था?
उत्तर- भीमा बाई ।
–—————————————-
प्रश्न 5- डॉ अम्बेडकर के पिता का क्या करते थे?

उत्तर- सेना मैं सूबेदार थे ।
—————————————–
प्रश्न 6- डॉ अम्बेडकर की माता का देहांत कब हुआ था?

उत्तर- 1896
—————————————–
प्रश्न 7- डॉ अम्बेडकर की माता के देहांत के वक्त उन कि आयु क्या थी ?

उत्तर- 5वर्ष।
—————————————–
प्रश्न 8- डॉ अम्बेडकर किस जाती से थे?

उत्तर- महार जाती।
—————————————–
प्रश्न 9- महार जाती को कैसा माना जाता था?

उत्तर- अछूत (निम्न वर्ग )।
—————————————–
प्रश्न10- डॉ अम्बेडकर को स्कूल मैं कहां बिठाया जाता था?

उत्तर- क्लास के बहार।
—————————————–
प्रश्न 11- डॉ अम्बेडकर को स्कूल मैं पानी कैसे पिलाया जाता था?

उत्तर- ऊँची जाति का व्यक्ति ऊँचाई से पानी उनके हाथों परडालता था!
—————————————–
प्रश्न12- बाबा साहब का विवाह कब और किस से हुआ?

उत्तर- 1906 में रमाबाई से।
—————————————–
प्रश्न 13- बाबा साहब ने मैट्रिक परीक्षा कब पास की?

उत्तर- 1907 में।
—————————————–
प्रश्न 14- डॉ अम्बेडकर के बंबई विश्वविद्यालय में प्रवेश लेने से क्या हुवा?

उत्तर- भारत में कॉलेज में प्रवेश लेने वाले पहले अस्पृश्य बन गये।
–—————————————-
प्रश्न 15- गायकवाड़ के महाराज ने डॉ अंबेडकर को पढ़ने कहां भेजा?

उत्तर- कोलंबिया विश्व विद्यालय न्यूयॉर्क अमेरिका भेजा।

प्रश्न 16- बैरिस्टर के अध्ययन के लिए बाबा साहब कहां और कब गए?

उत्तर- 11 नवंबर 1917 लंदन में।
—————————————–
प्रश्न 17- बड़ौदा के महाराजा ने डॉ आंबेडकर को अपने यहां किस पद पर रखा?

उत्तर– सैन्य सचिव पद पर।
—————————————–
प्रश्न 18- बाबा साहब ने सैन्य सचिव पद को क्यों छोड़ा?

उत्तर- छुआ छात के कारण।
—————————————–
प्रश्न 19- बड़ौदा रियासत में बाबा साहब कहां ठहरे थे?

उत्तर- पारसी सराय में।
–—————————————-
प्रश्न 20- डॉ अंबेडकर ने क्या संकल्प लिया?

उत्तर- जब तक इस अछूत समाज की कठिनाइयों को समाप्त ने कर दूं तब तक चैन से नहीं बैठूंगा।
—————————————–
प्रश्न 21- डॉ अंबेडकर ने कौनसी पत्रिका निकाली?

उत्तर- मूक नायक ।

प्रश्न 22- बाबासाहेब वकील कब बने?

उत्तर- 1923 में ।
—————————————–
प्रश्न 23- डॉ अंबेडकर ने वकालत कहां शुरु की?

उत्तर- मुंबई के हाई कोर्ट से ।
—————————————–
प्रश्न 24- अंबेडकर ने अपने अनुयायियों को क्या संदेश दिया?

उत्तर- शिक्षित बनो संघर्ष करो संगठित रहो ।
—————————————–
प्रश्न 25- बाबा साहब ने बहिष्कृत भारत का प्रकाशन कब आरंभकिया?

उत्तर- 3 अप्रैल 1927
—————————————–
प्रश्न 26- बाबासाहेब लॉ कॉलेज के प्रोफ़ेसर कब बने?

उत्तर- 1928 में।
—————————————–
प्रश्न 27- बाबासाहेब मुंबई में साइमन कमीशन के सदस्य कब बने?

उत्तर- 1928 में।
—————————————–
प्रश्न 28- बाबा साहेब द्वारा विधानसभा में माहर वेतन बिल पेश कब हुआ?

उत्तर- 14 मार्च 1929
—————————————–
प्रश्न 29- काला राम मंदिर मैं अछुतो के प्रवेश के लिए आंदोलन कब किया?

उत्तर- 03 मार्च 1930
—————————————–
प्रश्न 30- पूना पैक्ट किस किस के बीच हुआ?

उत्तर- डॉ आंबेडकर और महात्मा गांधी।
—————————————–
प्रश्न 31- महात्मा गांधी के जीवन की भीख मांगने बाबा साहब के पास कौनआया?

उत्तर- कस्तूरबा गांधी
—————————————–
प्रश्न 32- डॉ अम्बेडकर को गोल मेज कॉन्फ्रंस का निमंत्रण कब मिला?

उत्तर- 6 अगस्त 1930
—————————————–
प्रश्न 33- डॉ अम्बेडकर ने पूना समझौता कब किया?

उत्तर- 1932 ।
—————————————–
प्रश्न 34- अम्बेडकर को सरकारी लॉ कॉलेज का प्रधानचार्य नियुक्त कियागया?

उत्तर- 13 अक्टूबर 1935 को।
—————————————–
प्रश्न 35- मुझे पढे लिखे लोगोँ ने धोखा दिया ये शब्द बाबा साहेब ने कहां कहे थे?

उत्तर- आगरा मे 18 मार्च 1956 ।
—————————————–
प्रश्न 36- बाबा साहेब के पि. ए. कोन थे?

उत्तर- नानकचंद रत्तु।
—————————————–
प्रश्न 37- बाबा साहेब ने अपने अनुयाइयों से क्या कहा था?

उत्तर- – इस करवा को मै बड़ी मुस्किल से यहाँ तक लाया हु ! इसे आगे नहीं ले जा सकते तो पीछे मत जाने देना।
—————————————–
प्रश्न 38- देश के पहले कानून मंत्री कौन थे?

उत्तर- डॉ अम्बेडकर।
—————————————–
प्रश्न 39- स्वतंत्र भारत के नए संविधान की रचना किस ने की?

उत्तर- डॉ अम्बेडकर।
—————————————–
प्रश्न 40- डॉ अंबेडकर ने भारतीय संविधान कितने समय में लिखा?

उत्तर- 2 साल 11 महीने 18 दिन।

और अधिक जानने के लिए नीचे दिये गये पीडीएफ के डाउनलोड कर देखे –

Doctor Bhimrao Ramji Ambedkar Free PDF Book Download

Dr. B.R. Ambedkar PDF Book (भीमराव आंबेडकर पर निबंध)

आप एक बार Doctor Bhimrao Ramji Ambedkar Free PDF Book को एक बार जरूर ध्यान से पढ़ें। और अपने दोस्तो के साथ भी जरूर शेयर करे। और अगर आप ऐसे ही आने वाली सभी परिक्षाओँ की तैयारी करना चाहते है तो आप हमारी website – learnwithexpert.com के साथ लगातार बने रहिये। क्योकि हम प्रतिदिन आपको आपके लिए जरूरी Notes देते रहते हैं आप हमारी Website को Subscribe भी कर ले जिससे कि आपको हमारे द्वारा सभी update मिलती रहें ।

Add a Comment

Your email address will not be published.