List Of Satellite Of India PDF Book

List Of Satellite Of India PDF Book – भारत के उपग्रह की सूची

भारत ने 1975 से 118 उपग्रह लॉन्च किए हैं। भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (ISRO) भारत के अंतरिक्ष कार्यक्रम के लिए जिम्मेदार है। फरवरी 2017 में, Indian Space Research Organization (ISRO) ने एक ही बार में 104 सैटेलाइट लॉन्च करके एक नया रिकॉर्ड बनाया है। इन 104 उपग्रहों में से केवल 3 भारतीय उपग्रह थे। इन्हें 15 फरवरी 2017 को पोलर सैटेलाइट लॉन्च व्हीकल (PSLV) – C37 द्वारा लॉन्च किया गया था। List Of Satellite Of India PDF Book इस लेख के नीचे हमने 1975 से शुरू किए गए भारत के उपग्रहों की पूरी सूची प्रदान की है। इन उपग्रहों को कब और किस कारण से लॉन्च किया गया, यह जानने के लिए हमारी List Of Satellite Of India PDF Book इस पोस्ट को पढ़ते रहें।

List Of Satellite Of India PDF Book
List Of Satellite Of India PDF Book

इससे पहले, रूस द्वारा एक ही मिशन में 37 उपग्रहों को लॉन्च करके यह रिकॉर्ड 2014 में बनाया गया था। अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा ने एक बार में 29 उपग्रह लॉन्च किए हैं।

इसरो ने कई तरह के उपग्रह लॉन्च किए। इनमें भारतीय रिमोट सेंसिंग उपग्रह, जीपीएस या नेविगेशन उपग्रह, जासूस उपग्रह और सैन्य उपग्रह आदि शामिल हैं।

लेकिन पहले इसरो और भारतीय उपग्रहों के संबंध में कुछ महत्वपूर्ण तथ्यों और खबरों को देखें। भारत ने अलग-अलग समय पर आवश्यकता के अनुसार सात प्रकार के सैटेलाइट तैयार किए हैं, जो निम्न है –

  • पृथ्वी की भौगोलिक दशा जानने के लिए अर्थ ऑब्जर्वेशन(Earth Observation Satellite)
  • दिशा निर्देश के लिए नेवीगेशन सेटेलाइट(Navigation Satellite)
  • छोटे कार्यों में प्रयोग किए जाने वाले सैटेलाइट(Small Satellite)
  • विश्वविद्यालयों एवं संस्थानों से जुड़े सेटेलाइट(Universities/Academic Institute Satellite)
  • संचार माध्यम के लिए कम्युनिकेशन सेटेलाइट (Communication Satellite)
  • अंतरिक्ष विज्ञान के बारे में जानकारी प्राप्त करने के लिए स्पेस साइंस सेटेलाइट(Space Science Satellite)
  • नई खोज करने वाले सैटेलाइट(Experimental Satellite)

Indian Satellites Important Facts –

  • भारत का दूसरा मिशन “चंद्रयान -2” 22 जुलाई 2019 को लॉन्च किया गया।
  • इसरो का गठन डॉ. विक्रम साराभाई ने 15 अगस्त 1969 को किया था।
  • ए. पी. जे. अब्दुल कलाम भारत के पहले स्वदेशी उपग्रह प्रक्षेपण वाहन (SLV-3) के निदेशक थे।
  • पहला भारतीय उपग्रह, आर्यभट्ट एक भारतीय खगोलविद और गणितज्ञ के नाम पर रखा गया था।
  • प्रधानमंत्री, इंदिरा गांधी ने पहले भारतीय उपग्रह को आर्यभट्ट नाम दिया।
  • इसरो का मंगल मिशन अब तक का सबसे सस्ता मिशन है। 450 करोड़ (12 रुपये / किमी)।
  • पहले प्रयास में मंगल तक पहुँचने के लिए इसरो का मार्स मिशन एकमात्र मिशन था।
  • इसरो ने 20 उपग्रहों को ले जाने वाले रॉकेट लॉन्च करने का राष्ट्रीय रिकॉर्ड बनाया है, जिसमें से 13 अमेरिका के थे।
  • इसरो दुनिया की उन छह अंतरिक्ष एजेंसियों में से एक है जो अपनी धरती से उपग्रहों के निर्माण और प्रक्षेपण की क्षमता रखती है।

संचार माध्यम के लिए कम्युनिकेशन सेटेलाइट (Communication Satellite) –

भारत में संचार माध्यम स्थापित करने के लिए अभी तक भारतीय राष्ट्रीय उपग्रह(Indian national satellite-INSAT) की ओर से 41 उपग्रह छोड़े जा चुके है । जो वर्तमान समय में संचार माध्यम में एक नई क्रांति ला रहे है । वर्तमान समय में संचार उपग्रह निम्न है –

  • INSAT- 3A
  • INSAT – 3E
  • GSAT – 8
  • INSAT – 3C
  • INSAT- 4A
  • GSAT- 10
  • INSAT- 4 C.R.
  • GSAT- 12

पृथ्वी की भौगोलिक दशा जानने के लिए अर्थ ऑब्जर्वेशन(Earth Observation Satellite) –

ISRO ने पृथ्वी की भौगोलिक दशा जानने के लिए कई उपग्रहों की सफलतापूर्वक पृथ्वी की कक्षा में स्थापित किया है। आज, भारत के पास सबसे अधिक संख्‍या में पृथ्वी की भौगोलिक दशा जानने के लिए (Earth observation satellite) उपग्रहों का समूह है। वर्तमान में, 13, Earth observation satellite कक्षा में स्थापित हैं| जो निम्न प्रकार से हैं –

  • RESOURCESET- 1 & 2
  • CARSOSET – 1 & 2, 2A, 2B
  • RESET- 1 & 2
  • OCEANSET – 2
  • Mrghatripix
  • SARAL
  • SCATSET – 1
  • INSET 3D
  • KALPANA
  • INSET 3A
  • INSET 3DR

दिशा निर्देश के लिए नेवीगेशन सेटेलाइट(Navigation Satellite) –

इसरो ने नागरिको की हवाई यात्रा की आवश्‍यकताओं, बढ़ती हुई मांगों को पूरा करने तथा स्‍वतंत्र उपग्रह Navigation प्रणाली पर आधारित प्रणाली, Navigation के समय का उपयुक्त होना जैसी आवश्‍यकताएं पूरा करने लिए Navigation satellite की सेवाएं मुहैया कराने के लिए इस प्रणाली की शुरुआत की है। इसरो ने भारतीय प्रादेशिक नौवहन उपग्रह प्रणाली(Indian Regional Navigation Satellite System (IRNSS)) नामक प्रादेशिक Navigation Satellite System की स्‍थापना कर रहा है।

  • 1I- IRNSS
  • 1H- IRNSS
  • 1G- IRNSS
  • 1F- IRNSS
  • 1E- IRNSS
  • 1D- IRNSS
  • 1C- IRNSS
  • 1B- IRNSS
  • 1A- IRNSS

अंतरिक्ष विज्ञान के बारे में जानकारी प्राप्त करने के लिए स्पेस साइंस सेटेलाइट(Space Science Satellite) –

भारतीय अंतरिक्ष कार्यक्रम में खगोल विज्ञान, तारो की स्थिति, ग्रहीय विज्ञान एवं भू विज्ञान, वायुमंडलीय विज्ञान एवं सैद्धांतिक भौतिक विज्ञान जैसे क्षेत्रों के अनुसंधान शामिल हैं। विभिन्नं वैज्ञानिक उपकरण उपग्रहों पर विशेषकर, खगोलीय एक्सं-किरण एवं गामा किरण के विस्फोट को दिशा देने हेतु प्रक्षेपित किए गए हैं। ये निम्न हैं-

  • Astrosat (Launch- 28/09/2015)
  • Mars Orbiter Mission (MOM)- Launch – 5/11/2013
  • Chandrayan-1 (Launch – 22/10/2008)
  • SRE-1 -(Launch- 10/01/2007)
  • SROSS-C2- (Launch- 10/05-1994)
  • SROSS-C- (Launch- 20/05/1992)
  • SROSS-1- (Launch- 24/03/1987)

छोटे कार्यों में प्रयोग किए जाने वाले सैटेलाइट(Small Satellite) –

ये ऐसे सैटेलाइट होते हैं, जो पृथ्वी के चारो ओर परिक्रमा करते है और वास्तविक समय के अनुसार पृथ्वी पर होने वाले गतिविधियों से अवगत कराते हैं|भारत ने अभी हाल के ही वर्षो में 2 small satellite को बनाया हैं जिनके नाम IMS-1 और IMS-2 Bus हैं| भारत के पास 2 small satellite मौजूद हैं जो निम्न प्रकार से है –

  • Microsat (Launch- 12/01/2018)
  • YOUTHSAT (20/04/2011)

विश्वविद्यालयों एवं संस्थानों से जुड़े सेटेलाइट(Universities/Academic Institute Satellite) –

ये ऐसे उपग्रह होते हैं जिनको ISRO द्वारा विश्वविद्यालयो और शिक्षण संस्थानों में पढ़ रहे छात्रो को उपग्रह से संभंधित ज्ञान और उपग्रह के निर्माण हेतु दिया जाता हैं| जिन पर छात्र शोध करके नये और बेहतर तकनीकी का उपयोग करके अच्छे उपग्रह बना सके ।

satellite name Launch Date Weight
Kalamsat Jan 24, 2019 1.26 kg
NIUSAT Jun 23, 2017 15 kg
PISAT Sep 26, 2016 5.25 kg
SATHYABAMASAT Jun 22, 2016 1.5 kg
SWAYAM Jun 22, 2016 1kg
SRMSAT Oct 12, 2011 10.9 kg
Jugnu Oct 12, 2011 3 kg
SATUDSAT Jul 12, 2010 Less than 1 kg
ANUSAT Apr 20, 2009 40 kg
PRATHAM Sep 26, 2016 10 kg

नई खोज करने वाले सैटेलाइट(Experimental Satellite) –

इसरो ने परिक्षण हेतु कई छोटे उपग्रहों को पृथ्वी की कक्षा में स्थापित किया है। ये परीक्षण निम्न है| Remote Sensing, वायुमंडलीय अध्ययन, Payload Development, कक्षा नियंत्रण (Orbit Controls), पुन:प्राप्ति प्रौद्योगिकी (recovery technology) आदि। नई खोज करने वाले सैटेलाइट निम्न प्रकार से है –

  • 1C-INS
  • 1B-INS
  • 1A-INS
  • YOUYHSAT
  • APPLE
  • Rohini Satellite
  • Rohini Technology Satellite
  • Aryabhata

List Of Satellite Of India PDF Book

Download

Some Important PDF Link for Competitive Exam

Current Affairs Update PDF Book 2020
MICA Master in Current Affairs 2020 PDF Book
Gross Domestic Product (GDP) सकल घरेलू उत्पाद
UPSI Special Hindi Notes PDF Book
National Sports Awards 2020 PDF Book
Monthly Current Affairs in December 2019 PDF Book
4500+ GK GS Important Question Book for All Competitive Exam
Rivers in India Interesting information for Competitive Exam
Tax System in India PDF Notes
Master in Current Affairs 2020 PDF Book
Mahendra’s Master in Current Affairs PDF Book
Latest Banking & Current Affairs PDF Book 2019
Prayagraj High Court ARO Previous Year Question Paper PDF
UPPSC Prelims & Mains Exam Previous Year Question Paper
Speedy Current Affairs PDF Book

Some Important Reasoning Ability Book

Important Book For Mathematics

Important Book for English

My Dear Student -BANK, SSC, SSC 10+2, RAILWAY, POLICE, UP POLICE, RAILWAY GOURP D, RAILWAY POLICE, CGL, VDO, CPO SI, SSC CGL RPF, BSF, CISF, ASI, UPSSSC, CTET, TET, UPPSC, UPSC, IAS, PCS,CDS,CAPF,UGC-NET,CPO,Competitive Exam या अन्य किसी भी परीक्षा की तैयारी में लगे है तो हमारे website – Learnwithexpert.Com पर visit करते रहें , ताकि आपको हमारे द्वारा नये Update आपको प्राप्त होते रहे ।।

Disclaimer: Learnwithexpert.com केवल Educational Purpose शिक्षा क्षेत्र के लिए बनाई गई है, तथा इस पर उपलब्ध कुछ पुस्तक Notes,PDF Material,Books का मालिक नहीं है, न ही बनाया और न ही स्कैन किया है। हम सिर्फ Internet पर पहले से उपलब्ध Link और Material प्रदान करते हैं। यदि किसी भी तरह से यह कानून का उल्लंघन करता है या कोई समस्या है तो कृपया हमें learnwithexpert0@gmail.com पर Mail करें।

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *