TA DA Full Form | TA DA क्या हैं? | TA & DA Full Form in Hindi की पूरी जानकारी

TA & DA Full Form in Hindi, TA & DA का Full Form क्या है, TA & DA क्या होता है, टीए डीए क्या है, TA & DA का पूरा नाम और हिंदी में क्या अर्थ होता है, ऐसे सभी सवालो के जबाब आपको इस Post में मिल जायेंगे.

TA & DA Full Form in Hindi – टीए डीए क्या होता है
TA & DA की फुल फॉर्म Travelling Allowance & Dearness Allowance होती है. इसको हिंदी में यात्रा भत्ता और महंगाई भत्ता कहते है. यह कर्मचारियों को उनके संगठन द्वारा भुगतान की गई राशि को दर्शाता है.

Travelling Allowance ( TA ) – यह व्यापार दौरे के दौरान यात्रा और अन्य खर्चों के लिए कर्मचारी को भुगतान की गई राशि को दर्शाता है. इसमे आमतौर पर यात्रा टिकट, होटल बिल और भोजन व्यय आदि की कीमत शामिल होती है.

कुछ कंपनियां मासिक आधार पर एक निश्चित यात्रा भत्ता का भुगतान करती है और कुछ कंपनियों को आपको यात्रा के दौरे पर खर्च की गई राशि प्राप्त करने के लिए यात्रा टिकट, होटल बिल और अन्य बिल पेश करने की आवश्यकता होती है. यात्रा भत्ते तय किए गए है ताकि कर्मचारी को सीमा के भीतर खर्च करना पड़े. यदि वह अधिक खर्च करता है तो उसे अतिरिक्त यात्रा खर्च करना पड़ता है.

Dearness Allowance (DA ) – इसे सामान्य भाषा में महंगाई भत्ता कहा जाता है. यह पेंशन भोगियो और सरकारी और सार्वजनिक क्षेत्र के संगठनो के कर्मचारियों को आवंटित धन की राशि को संदर्भित करता है. यह मूल रूप से जीवित भत्ता की लागत है जो लोगों को उनकी रहने की लागत को समायोजित करने मे मदद करता है. कर्मचारियों को महंगाई भत्ता के रूप मे आवंटित मूल वेतन का एक विशिष्ट प्रतिशत आवंटित किया जाता है. महंगाई भत्ता शहर से शहर में भिन्न होता है क्योंकि जीवित लागत भी एक स्थान से दूसरे स्थान पर भिन्न होती है मेट्रो शहरों मे रहने की लागत छोटे शहरो और ग्रामीण क्षेत्रों से अधिक होती है.

House Rent Allowance – House Rent Allowance X, Y और Z Category के शहरों के लिए क्रमश 24 फीसद, 16 फीसद और 8 फीसद निर्धारित किये गये है. HRA क्रमानुसार 54,00 रुपये, 36,00 रुपये और 18,00 रुपये से कम नहीं होना चाहिए. हालांकि इससे पहले यह 18,000 के न्यूनतम वेतन पर क्रमानुसार 30 फीसद, 20 फीसद और 10 फीसद निर्धारित था. House Rent Allowance की पूरी राशि कर छूट के दायरे में नहीं आती है. सबसे खास बात जो आपको बात याद रखनी चाहिए HRA बेसिक सैलरी के 50 फीसद से ज्यादा नहीं हो सकता है. HRA के अंतर्गत टैक्स क्लेम तभी किया जा सकता है जब मकान का किराया बेसिक सैलरी के 10 फीसद से कम हो.

सैलरी के साथ मिलते हैं ये 7 अलाउंस, क्‍या आप इनके बारे में जानते हैं?

अगर आप एक वेतनभोगी कर्मचारी हैं और हर महीने आपके अकाउंट में सैलरी आती है तो शायद आप अपने सैलरी स्लिप में छुपे अलाउंस के बारे में भी जानते होंगे। यदि नहीं जानते कोई बात नहीं हम आपको बताएंगे। वास्‍तव में आपके सैलरी स्लिप में 8 अलाउंस शामिल होते हैं जिन्‍हें आप क्‍लेम करके टैक्‍स में छूट भी प्राप्‍त कर सकते हैं। तो आइए जानते हैं इन अलाउंस के बारे में।

ट्रांसपोर्ट अलाउंस (TA)

यदि ट्रांसपोर्ट अलाउंस आपकी कंपनी द्वारा प्रदान किया जाता है तो वह आपकी सैलरी का हिस्‍सा होगा। जिसमें कि आप हर साल 19200 रुपए के TA पर छूट पा सकते हैं। यह अलाउंस फिजिकली चैलेंज्‍ड व्‍यक्तियों के लिए 32000 रुपए सालाना है। इसके लिए जरुरी है कि आप कंपनी के द्वारा प्रदान किए गए परिवहन की सुविधा न लेते हों।

एचआरए (HRA)

यदि आपकी सैलरी स्लिप में घर के किराए का अलाउंस शामिल है और आप किराए के मकान में रहते हैं तो आप इस पर टैक्‍स छूट प्राप्‍त कर सकते हैं। यह छूट आपको कुछ नियम के आधार पर मिलेगा। लेकिन अगर आप किसी भी तरह का किराया नहीं देते हैं तो सैलरी में मिलने वाला आपको पूरा HRA टैक्‍सयुक्‍त होगा।

लीव ट्रैवल अलाउंस (LTA)

कुछ कंपनियां अपने कर्मचारियों को ट्रैवल अलाउंस भी प्रदान करती हैं। अगर आपको भी LTA मिलता है तो आप टैक्‍स छूट पा सकते हैं। एलटीए में हवाई यात्रा और ट्रेन की यात्रा का किराया ही बस शामिल होता है। बस और कार के किराए का भत्‍ता मात्र कुछ ही परिस्थितियों में दिया जाता है।

डियरनेस अलाउंस (DA)

आपको बता दें कि डीए ज्‍यादातार सरकारी कर्मचारियों को ही मिलता है, लेकिन कई बार प्राइवेट कंपनियां भी यह ऑफर देती हैं। अगर आपको DA मिलता है तो इस पर आपको टैक्‍स चुकाना होता है, इसमें आपको टैक्‍स छूट नहीं मिलती है।

मेडिकल रिइंबर्समेंट

अगर आपकी सैलरी में मेडिकल रिइंबर्समेंट शामिल है तो आप 15 हजार रुपए तक के अलाउंस पर टैक्‍ट छूट पा सकते हैं। मेडिकल रिइंबर्समेंट आपको कंपनी द्वारा आपके और आपके परिवार के मेडिकल खर्च का वहन करने के लिए दिया जाता है। इसके लिए आपको बिल जमा करना जरुरी होता है।

फिक्‍स्‍ड मेडिकल अलाउंस

अगर फिक्‍स्‍ड मेडिकल अलाउंस आपकी सैलरी का हिस्‍सा है तो इस पर आपको टैक्‍स छूट नहीं मिलती है। इसे मेडिकल रिइंबर्समेंट के साथ न जोड़ें, क्‍योंकि दोनों ही चीज अलग हैं। मेडिकल अलाउंस जहां टैक्‍सेबल है, वहीं मेडिकल रिइंबर्समेंट पर टैक्‍स छूट होती है।

बच्‍चों की पढ़ाई के लिए अलाउंस

आपको बता दूं कि अगर आपको सैलरी में यह अलाउंस मिल रहा है तो इस पर भी आप टैक्‍स छूट हासिल कर सकते हैं। इसके अंतर्गत आपको हर साल 1200 रुपए पर टैक्‍स छूट मिल सकती है। यह छूट अधिकतम 2 बच्‍चों पर मिलती है।

इसे भी जाने:-EWS Full Form आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग

आशा करता हू कि हमारे द्वारा दी गई सभी जानकारी आपको अच्छी लगी होगी और आपको अपने प्रतियोगी परिक्षा कि तैयारी करने में भी मदद मिलेगी।दोस्तों इस book में आप को Competitive exam में अब तक के पूछे गए सभी प्रकार के Question मिल जायेंगे || आप कर competitive exam की तैयारी कर रहे हैं तो ये book आप के लिए बहुत ही important हैं आप के लिए , और अगर आपको ये सभी जानकारी अच्छी लगी हो तो Comment Box में जाकर हमें Comment करके जरूर बतायें जिससे कि हम इसी तरह प्रतिदिन आपके उज्जवल भविष्य के लिए कुछ न कुछ लाते रहें।

जरुर पढ़ें :- दोस्तों अगर आपको किसी भी प्रकार का सवाल है या ebook की आपको आवश्यकता है तो आप निचे comment कर सकते है. आपको किसी परीक्षा की जानकारी चाहिए या किसी भी प्रकार का हेल्प चाहिए तो आप comment कर सकते है. हमारा post अगर आपको पसंद आया हो तो अपने दोस्तों के साथ share करे और उनकी सहायता करे.

Disclaimer :- sarkaritips.com does not claim this book, neither made nor examined. We simply giving the connection effectively accessible on web. In the event that any way it abuses the law or has any issues then sympathetically mail us.

Add a Comment

Your email address will not be published.